Posted inNews

तेजपत्ता की खेती…आसान भी और कमाई भी…सब्सिडी अलग से

सब्जियों में जब तक तेजपत्ता का तकड़ा ना लगे, तब तक स्वाद नहीं बढ़ता, ऐसा सभी मानते हैं। मसालों में तेजपत्ता अहम भूमिका निभाता है। इसके अलावा तेजपत्ता का आयुर्वेदिक महत्व भी काफी है। यह औषधीय गुणों से भी भरपूर होता है, वजन घटाने के लिए लोग चाय में तेजपत्ता तथा दालचीनी का उपयोग करते […]

Posted inNews

पपीते की ऐसी खेती…खेत में ही बिक गई पूरी फसल

कुंजबाई साहू की किस्मत पपीता की एक फसल ने बदल दी है। उसके दो एकड़ खेतों में 500 क्विंटल पपीता का उत्पादन हुआ है। पपीता की गुणवत्ता ऐसी कि बिलासपुर के फल व्यवसाईयों ने खेत में खड़ी फसल ही खरीद ली। इससे कुंजबाई को चार लाख रूपए मिले। पपीता की पहली फसल के मुनाफे से […]

Posted inNews

मौसम में बदलाव से मिर्च की फसलों में थ्रिप्स का प्रकोप…ऐेसे करें बचाव

पिछले एक महीने से मौसम में उतार-चढ़ाव के स्थिति देखने को मिल रही है। इस कारण मिर्च की फसलों पर थ्रिप्स कीट के प्रकोप का खतरा मंडरा रहा है। तो आईए देखते हैं इसके बचाव के उपाय कैसे करें… 1. एक मिलीमीटर लंबे होते हैं कीटकीट विज्ञान विभाग के अधिकारी ने बताया कि थ्रिप्स कीट […]

Posted inNews

ड्रिप सिंचाई के इस्तेमाल से आमदनी दोगुनी….आखिर क्या है ड्रिप सिंचाई…

ड्रिप सिंचाई के इस्तेमाल से कृषक नितिन तेकाम की आमदनी दोगुनी हो गई है। कम लागत् में अधिक लाभ लेकर नितिन काफी उत्साहित है। नितिन तकनीक का उपयोग कर अपने कृषि कार्य को और अधिक बढ़ाना चाहते हैं। पौंड़ी निवासी नितिन तेकाम के पास कुल भूमि 5.560 हेक्ट. कृषि भूमि है जिसमें उन्हें 20 क्विं. […]

Posted inAdvice

बड़ी इलायची की व्यावसायिक खेती…

मसालों में बड़ी इलायची का नाम अग्रणी है। वैसे तो हर मसाला कीमती होता है, फिर भी बड़ी इलायची को विश्व का तीसरा सबसे महंगा मसाला माना गया है। यानी इसकी कीमत केसर से भी अधिक है। नेपाल में इसका सबसे ज्यादा उत्पादन होता है। इसके अलावा हमारे देश में भी इसकी खेती की जाती […]

Posted inNews

केंचुआ पालन से बेहतर रिटर्न की गारंटी

चंदखुरी में श्री सिंधुजा स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने पिछले वर्ष रायपुर से आस्ट्रेलियन प्रजाति के एक क्विंटल केंचुए मंगवाये थे। एक साल के भीतर ही केंचुए इतनी मात्रा में बढ़ गये कि पहले साल का उत्पादन 20 क्विंटल रहा। इसे बेचकर समूह ने ढाई लाख रुपए कमाये। इन्हीं केंचुओं की सहायता से इस बार […]

Posted inAdvice

सौंफ की खेती और व्यापारिक महत्व

माउथ फ्रेशनर के रूप में बहुतायत में प्रयोग होने वाला सौंफ एक जड़ी बूटी औषधी भी है। इसके उपयोग से पेट संबंधी कई तरह के विकार दूर होते हैं। इसके साथ ही यह एक मसाला फसल भी है। यानी इसका उपयोग मसालों के रूप में भी किया जाता है। आचार और सब्जियों का जायका बढ़ाने […]

Posted inNews

तीन वर्ष में ही साहीवाल-गिर प्रजाति की गायों में दस गुना इजाफा

मतवारी के गौठान में हर दिन लगभग पांच सौ गोवंश इक_ा होता है, इनमें से अधिकतर गिर-साहीवाल प्रजाति के मवेशी हैं। तीन बरसों में कृत्रिम गर्भाधान के कार्यक्रम को यहां पर युद्धस्तर में किया गया। इसका असर दिखने लगा है, यहां लंबे कान वाली गिर प्रजाति की गायें अधिक दिखती हैं। गिर और साहीवाल प्रजाति […]

Posted inNews

कम लागत में ज्यादा मुनाफे वाला है मुर्गी पालन ….

बीते तीन सालों में छत्तीसगढ़ में विभिन्न विभागों एवं शासकीय योजनाओं के माध्यम से महिलाओं को समूह के माध्यम से रोजगार एवं आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने की पहल के सार्थक परिणाम भी सामने आने लगे हैं। गौठानों से जुड़ी लगभग 80 हजार महिलाएं समूह के माध्यम से वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन के साथ-साथ अन्य आयमूलक […]

Posted inNews

नौकरी छोड़ लगाया सेब का बगीचा…हो रहा अच्छा मुनाफा

मदनपुर निवासी एक किसान ने सेब का बगीचा लगाने का मन बनाया और नौकरी छोड़कर उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों की सलाह के आधार पर बगीचा तैयार किया है। किसान के खेत में सेब का बगीचा लहलहा रहा है और उससे आमदनी भी शुरू हो गई है। सेब के अलावा उनके बगीचे और कई ऐसे पेड़ […]