Posted inNews

परंपरागत खेती छोड़ आधुनिक खेती से मुनाफा कमा रहे किसान

जशपुर जिले के दुलदुला विकासखंड के ग्राम बागबुड़ी के लोकनाथ राम ने शासकीय योजनाओं का लाभ लेकर परम्परागत कृषि को छोड़कर आधुनिक कृषि को अपनाया है। लोकनाथ पहले परम्परागत खेती करते आ रहे थे। जिससे वे फसलों की सिंचाई के लिए बरसात पर निर्भर रहते थे। उन्होंने परम्परागत खेती नहीं कर के आधुनिक खेती करने […]

Posted inNews

धान के बाद खाली जमीन का उपयोग और बदल गया भोजन और जिंदगी का स्वाद

सरगुजा के पोतका गांव के दिका प्रसाद के भोजन और जिंदगी, दोनों का स्वाद अब बदल गया है। जीवन साथी लक्ष्मनिया के हाथों की बनी तरकारी में अब उन्हें पहले से कहीं अधिक स्वाद और आनंद आने लगा है। और आए भी क्यों न! आखिरकार ये तरकारियां उनकी अपनी बाड़ी की जो हैं, जिन्हें पहली […]

Posted inAdvice

घर की छत पर विकसित सब्जियों के उत्पादन का मॉडल हो रहा है लोकप्रिय

कृषि विज्ञान केंद्र उमरिया द्वारा खान पान में विभिन्नता एवं पौष्टिक हरी जैविक सब्जी के रोजाना इस्तेमाल को लेकर एक मॉडल विकसित किया है जिसमे सात गमलों में सात प्रकार की सब्जियों का उत्पादन किया जा सकता है और रोजाना वैराइटी बदलकर ताजी हरी सब्जी उपयोग में लाई जा सकती है। कृषि वैज्ञानिकों की अपील […]

Posted inNews

लॉकडाउन में आखिर हरी सब्जियां कैसे बनी महिलाओं का सहारा…

कोरोना काल में लॉकडाउन के कारण तमाम लोगों के सामने आजीविका चलाने का संकट खड़ा हो गया था। लेकिन अनूपपुर जिले के ग्राम धरहरकला की मजदूर वर्ग से तालुल्कात रखने वाली कई महिलाओं ने अपनी सूझबूझ से सब्जियों की बिक्री से इस प्राकृतिक आपदा का डटकर मुकाबला किया और आजीविका की गाड़ी को डगमगाने नहीं […]

Posted inNews

नंदन फलोद्यान योजना… 1700 से अधिक किसानों ने लगाए पौधे

नंदन फलोद्यान योजना में मंदसौर जिले के 1700 से अधिक किसानों ने अपने खेतों में पौधे लगाए गए हैं यह पौधे अमरूद और संतरे के हैं। सीईओ जिला पंचायत श्री ऋषव गुप्ता ने बताया  कि नंदन फलोद्यान के तहत अमरुद और संतरे की खेती को बढ़ावा देने के लिए जिले के पांचों ब्लॉक में इस […]

Posted inNews

खेती में नवाचार…धान, मक्का, सब्जी-भाजी के बाद अब बढ़ रहे आलू की खेती और नारियल उत्पादन की ओर कदम…

सुकमा जिले के किसान धान, मक्का और सब्जी-भाजी की खेती के अलावा अब आलू की खेती और नारियल का बागान तैयार करने लगे है। अब वे खरीफ एवं रबी फसलों की खेती के साथ-साथ कृषि आधारित अन्य आयमूलक गतिविधियों जैसे- मछली पालन, कुक्कुट पालन, पशुपालन को अपनाकर अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने में जुटे […]

Posted inNews

अनुपयोगी कोयला खदानों में ऐसे हो रहा मछली पालन

अनुपयोगी कोयला खदानों को उपयोगी बनाने के लिए मत्स्योद्योग विभाग द्वारा महिला स्वसहायता समूहों को मछली पालन व्यवसाय से जोडऩे के प्रयास कारगर साबित हो रहे हैं। इन खदानों के आसपास रहने वाले गरीब परिवारों को मत्स्य पालन की आजीविका से जोड़कर स्वावलम्बी बनाया जा रहा है।     मछली पालन से आजीविका का तानाबाना […]

Posted inNews

जैविक नुस्खों ने बढ़ाई भूमि की उर्वरा और उत्पादन

लगभग 20 वर्ष पूर्व रजूर के रामचंद्र पाटीदार ने पिता से खेती किसानी का काम अपने हाथों में लिया था। विरासत में मिली 8 हेक्टेयर की भरपुर उपजाऊ भूमि पर रामचंद्र ने अधिक उत्पादन और प्रतियोगात्मक खेती शुरू की। अधिक उत्पादन के चक्कर में रामचंद्र ने मिर्च की फसल के लिए अंधाधुंध रासायनिक कीटनाषकों और […]

Posted inNews

कोरोना काल में इस राज्य ने दिया 57 लाख परिवारों को 3 माह का नि:शुल्क चावल

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के दौरान राज्य के नागरिकों को खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के साथ ही प्रवासी श्रमिकों, निराश्रितों एवं जरूरतमंद लोगों को पर्याप्त भोजन एवं सूखा राशन उपलब्ध कराने हर संभव उपाय किए है। लॉकडाउन की अवधि में भी छूटे हुए पात्र परिवारों के नवीन राशनकार्ड जारी किये गये हैं। राज्य […]

Posted inNews

खेती-किसानी में बहुत मददगार है ये योजना…

ग्राम गोरखपुर के निवासी किसान शिवचरण गौंड़ कहते हैं कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि एवं मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के तहत मिलने वाले 10 हजार रूपये खेती- किसानी में बहुत मददगार साबित हो रहे हैं। इससे खाद- बीज, पाउडर खरीदने की चिंता दूर हुई है। यह बात श्री शिवचरण गौंड़ ने उस समय कही, जब […]