Posted inNews

लोगों का जीवन आसान बना रही मनरेगा…

मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम) कई मायनों में लोगों की जिंदगी बदल रही है। आजीविका के साधनों को सशक्त कर आर्थिक समृद्धि का रास्ता खोलना हो या हाथ में कोई काम न होने पर रोजगार उपलब्ध कराकर आमदनी का जरिया देना हो, गांवों में सामुदायिक परिसंपत्तियों के निर्माण के साथ ही मनरेगा […]

Posted inAdvice

जामुन की खेती… व्यापारिक लाभ वाली

जामुन की खेती… व्यापारिक लाभ वालीजामुन खाने में स्वादिष्ट होने के साथ ही कई औषधीय गुण भी लिए हुए है। जामुन अम्लीय प्रकृति का फल है पर यह स्वाद में मीठा होता है. जामुन में भरपूर मात्रा में ग्लूकोज और फ्रुक्टोज पाया जाता है। जामुन में लगभग वे सभी जरूरी लवण पाए जाते हैं जिनकी […]

Posted inNews

करेला, बैंगन और हरी मिर्ची से निकली आमदनी की राह

विकासखंड खडगंवा ग्राम पंचायत ठगगांवविकासखंड खडगंवा के ग्राम पंचायत ठगगांव की संतोषी और उनके पति की कमाई का जरिया सब्जी उत्पादन है। उनके पास 5 एकड जमीन है, जिसमें से वर्तमान में वे एकड़ जमीन पर करेला, बैंगन और हरी मिर्च जैसे सब्जियों का उत्पादन का कार्य कर रहे हैं। इसी जमीन पर मौसम के […]

Posted inNews

नीली क्रांति से जीवन में आई खुशहाली…

मछली पालन करना काफी लाभदायक सिद्ध हो रहा है। मछली पालन के माध्यम से स्थानीय स्तर पर रोजगार उत्पन्न कर स्थानीय लोगों की पौष्टिक आहार उपलब्ध कराने में दन्तेवाड़ा जिला अपनी पहचान बना रहा है। इस कारोबार को शुरू करने के लिए खेती-किसानी करने वालें किसान भी करने लगे हैं। इसका सबसे अच्छा उदाहरण जिले […]

Posted inAdvice

स्ट्रॉबेरी की खेती…और व्यापारिक लाभ

स्ट्रॉबेरी शरीर को फायदा पहुंचाने के अलावा यह सुंदरता को बढ़ाने के काम भी आता है. इसके चटख रंग और मीठे स्वाद की वजह से बच्चे भी इसे बहुत पसंद करते हैं. स्ट्रॉबेरी लाल रंग का दिल के आकर में एक बहुत ही नाज़ुक फल है, जिसका स्वाद खट्टा-मीठा होता है, जिस वजह से यह […]

Posted inAdvice

चायोट की खेती और व्यापारिक लाभ

चायोट लैटिन अमेरिका और विशेष रूप से दक्षिणी मेक्सिको और ग्वाटेमाला के मूल की सब्जी है। लेकिन अब इसे फ्लोरिडा, लुइसियाना, दक्षिण-पश्चिमी संयुक्त राज्य अमेरिका, भारत, नेपाल और कई अन्य देश में भी उगाया जाता है। चायोट ककड़ी वंश की सब्जी है। इसे नाशपाती, मर्लिटोन, चोको और कस्टर्ड मैरो आदि नाम से भी जाना जाता […]

Posted inAdvice

झुलसा, ब्लास्ट, तना छेदक…लक्षण और उपचार

वर्तमान समय में धान में  बालियां आने लगीं हैं। पौधे की पत्तियां, तना, गाठ व बालियों पर अनेक कीट-पतंगो के प्रकोप व बीमारियों  के लक्षण दिखाई देते है। किसानों को सलाह दी गई है कि वे नियमित रूप से खेतों का भ्रमण कर संभावित कीट पतंगों के प्रकोप की निगरानी करें। लक्षण दिखने पर कृषि […]

Posted inNews

खेती की मल्चिंग विधि

महिलाओं द्वारा अब मल्चिंग  विधि से सब्जी की खेती शुरू की गई है। इस विधि से सब्जी की खेती करने से उत्पादन अच्छी होगी जिससे महिलाओं की आमदनी में वृध्दि होगी। अम्बिकापुर जनपद के आदर्श गोठान सोहगा में करेला, लौकी, कद्दू आदि की खेती मलिं्चग विधि से की गई है। इस विधि से खेती के […]

Posted inAdvice

चेरी की खेती और व्यापारिक लाभ

चेरी की खेती और व्यापारिक लाभ स्वाद में खट्टा-मीठा चेरी बड़े चाव से खाया जाता है। इसमें बहुत से पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसमें विटामिन ए, बी, सी, थायमिन, नायसिन, मैगनिज, राइबोफ्लैविन पोटेशियम, कॉपर, एंटीऑक्सीडेंट, पानी, आयरन, फाइबर, फस्फोरस, बीटा-कैरोटीन और क्यूर्सेटिन आदि पाए जाते हैं। इसकी खेती यूरोप, अमेरिका, एशिया, तुर्की देशों में […]

Posted inNews

अब पशु सखी देंगी गांव में सेवाएं…

मप्र सरकार आजीविका मिशन के माध्यम से समूह बनाकर गांव की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने लगातार प्रयास कर रही है। नर्सरी, कुटीर उद्योग, मुर्गी पालन, भैंस पालन के अलावा अन्य क्षेत्रों का भी प्रशिक्षण महिलाओं को दिया जा रहा है और गांवों में उनकी सेवाएं भी ली जा रही हैं। जिसके माध्यम से महिला सशक्तिकरण […]