Posted inNews

मनरेगा बना मजदूरों की आय का सहारा

लॉकडाउन में बस्तर जिले के अधिकांश ग्रामीणों की यह कार्यशैली रही जिससे इनको मजदूरी के रूप में प्रतिदिन 190 रूपए के हिसाब से मजदूरी की राशि प्राप्त हो रही है। ये ग्रामीण वर्तमान में लॉकडाउन से अन्य राज्य कमाने गए मजदूरों की अपेक्षा ज्यादा खुश हैं क्योंकि उन्हें घर के नजदीक रोजगार का अवसर मिला। […]

Posted inNews

जैविक खेती से लाभ ही लाभ

वैसे तो खेती-किसानी में मेेहनत खूब है, लेकिन यदि सही समय और अच्छी मेहनत से खेती की जाए तो फायदा भी खूब होता है। लगातार आ रही नए-नए तकनीकों के साथ ही रासायनिक खादों का प्रयोग से किसान मुनाफा भी खूब कमा रहे हैं। लेकिन कई क्षेत्रो में देखा जा रहा है कि अब जैविक […]

Posted inNews

हर्बल लेमन ग्रास चाय उत्पादन से बढ़ रही आत्मनिर्भरता

कोरोना संकटकाल में जिला प्रशासन धमतरी की पहल पर जिले की महिला स्व-सहायता समूहों द्वारा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक हर्बल चीजों का उत्पादन किया जा रहा है। इन हर्बल उत्पादों में ‘ओज’ हर्बल लेमन ग्रास मसाला, ‘ओज’ लेमन ग्रास तुलसी, ‘ओज’ लेमन ग्रास मिंट और ओज हर्बल लेमन ग्रास अदरक मसाला प्रमुख हैं। […]

Posted inNews

आम के आम गुठलियों के भी दाम…कुछ ऐसी है मक्का की खेती

छत्तीसगढ़ में मक्का की खेती को लेकर किसानों में दिनो-दिन रूझान बढ़ता जा रहा है। बस्तर अंचल में होने वाली मक्का की फायदेमंद खेती अब धीरे-धीरे राज्य के अन्य इलाकों में भी विस्तारित होने लगी है। समर्थन मूल्य पर मक्का की खेती और नगदी फसल के रूप में इससे होने वाली आय को देखते हुए […]

Posted inNews

मछली पालन से जीविकोपार्जन की समस्या हुई आसान…श्रवण कुमार की आमदनी में हुई बढ़ोतरी

तालाब में कमर तक पानी है, श्रवण नाग पानी में बड़ा सा जाल डाल चुके हैं, धीरे-धीरे जाल खींचा जा रहा है, और जाल में सैकंड़ो की संख्या में मछली फंस चुके हैं। श्री नाग के मछली निकालते ही हाथों-हाथ मछलियां बिक भी गयी और वे पैसे लेकर खुशी-खुशी घर की ओर चल पड़े। आज […]

Posted inNews

जैविक खाद बनाने की पारंपरिक विधि घुरूवा की वैज्ञानिक तकनीक से खाद उत्पादन मेें क्रांति की संभावना

परंपरा को अगर विज्ञान का साथ मिल जाए तो सोने पे सुहागा ही समझिए। हमारे छत्तीसगढ़ में घुरूवा के माध्यम जैविक खाद तैयार करने की परंपरा रही है। अब इसी पारंपरिक घुरूवा को हम वैज्ञानिक विधि से उन्नत कर रहे हैं उन्नयन के बाद 30 से 40 दिनों में बढिय़ा कम्पोस्ट खाद तैयार हो जाती […]

Posted inNews

बाजारों तक पहुंच रही हर्बल साबुन की खुशबू

बाजार में बिक रहे केमिकल युक्त साबुन की जगह एलोवेरा, नीबू, गुलाब, चारकोल जैसे प्राकृतिक चीजों से साबुन बनाने वाली बिहान की दीदियों के उत्पाद की महक अब बजे बाजारों तक पहुंचने लगी है। धीरे-धीरे ही सही अब बिहान दीदियों के सपने हकीकत में बदलने लगे हैं। साबुन की गुणवत्ता और दीदियों की मेहनत से […]

Posted inNews

रागी की खेती से खुशहाली की ओर बढ़ रही महिलाएं…4.50 लाख तक पहुंची आमदनी

छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले में कृषि की अपार संभावनाओं तथा कृषि में नवाचारों को विस्तार देने के उद्देश्य से रागी की खेती की शुरुआत की गई। कलेक्टर तथा जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण तथा आजीविका बढ़ाने के लिए उन्हें रागी की खेती से जोडऩे की पहल की। उनकी पहल […]

Posted inNews

26 एकड़ अनुपजाऊ पर फलों की खेती कर किसानों ने पेश की अनोखी मिशाल

छत्तीसगढ़ शासन की सुराजी गांव योजना, गांव और ग्रामीणों की तस्वीर और तकदीर बदलने का जरिया बनते जा रही है। एक साल में ही सुराजी गांव योजना के सार्थक परिणाम राज्य के सैकड़ों गावं में दिखने लगे हैं। इस योजना के प्रमुख घटक नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को नई गति दी है। […]

Posted inNews

पशुओं को मिलेगी नई पहचान…यहां शुरू हुई ये खास पहल

किसान भाईयों ने लिए उनके पशु ही हाथ-पैर की तरह होते हैं। जो उनके साथ-साथ मेहनत  और पसीना बहाकर उनके खेतों को लहलहाते हैं। लेकिन यही पशु अगर खो जाए तो किसानों का टेंशन बढऩा लाजिमी है। लेकिन अब इसी टेंशन को दूर करने सरकार ने पहल शुरू कर दी है। इसके तहत अब पशुओं […]