बागवानी फसलों के लिए 2019-20 का दूसरा अग्रिम अनुमान

प्रविष्टि तिथि: 02 JUN 2020 6:22PM by PIB Delhi – कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय

कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने विभिन्न बागवानी फसलों के रकबे और उत्पादन के संबंध में 2019-20 के दूसरे अग्रिम अनुमान जारी किए हैं। ये अनुमान राज्यों और अन्य स्रोत एजेंसियों से मिली जानकारियों पर आधारित हैं।

कुल बागवानी2018-19 (अंतिम)2019-20(दूसरा अग्रिम अनुमान)
रकबा (मिलियन हेक्टेयर)25.4325.66
उत्पादन (मिलियन टन)310.74320.48

2019-20 की प्रमुख बातें (दूसरा अग्रिम अनुमान)

  • 2019-20 (दूसरा अग्रिम अनुमान) में कुल बागवानी उत्पादन 2018-19 की तुलना में 3.13 प्रतिशत अधिक रहने का अनुमान है।
  • पिछले साल की तुलना में सब्जियों, फलों, सुगंधित (एरोमैटिक्स) और औषधीय पौधों तथा फूलों के उत्पादन में बढ़ोतरी, जबकि बागवानी फसलों और मसालों के उत्पादन में कमी दर्ज की गई।
  • फलों का उत्पादन 99.07 मिलियन टन रहने का अनुमान है, जबकि 2018-19 में 97.97 मिलियन टन उत्पादन रहा था। इसकी मुख्य वजह केला, सेब, साइट्रस (खट्टे फलों) और तरबूज के उत्पादन में बढ़ोतरी रही है।
  • 2019-20 में सब्जियों का उत्पादन 191.77 मिलियन टन रहने का अनुमान है, जबकि 2018-19 में यह 183.17 मिलियन टन रहा था। इस बढ़ोतरी की मुख्य वजह प्याज, टमाटर, ओकरा, मटर, आलू आदि के उत्पादन में बढ़ोतरी रही है।
  • प्याज उत्पादन 26.74 मिलियन टन रहने का अनुमान है, जबकि 2018-19 में यह 22.82 मिलियन टन रहा था।
  • टमाटर का उत्पादन 20.57 मिलियन टन (8.2 प्रतिशत की बढ़ोतरी) रहने का अनुमान है, जबकि 2018-19 में यह 19.01 मिलियन टन रहा था।

विस्तृत आंकड़ों के लिए यहां क्लिक करें