पेड़ों पर जाली बांध कर महुवा संग्रहण

जशपुर विकास खण्ड के ग्राम पंचायत झरगांव के गौठान और विकासखण्ड दुलदुला के गौठान में ग्रामीण स्व सहायता समूह की 56 महिलाएॅ आजीविका से जुड़कर आत्मनिर्भर बन रही हैं। जशपुर जिले के दूरस्थ अंचल में निवास करने वाले महिलाएॅ लुघु वनोपज की संग्रहण कार्य में शुरू से ही जुड़ी हुई हैं और महुआ का संग्रहण करती हैं महिलाएॅ महुआ के पेड़ो पर जाली बांधकर बड़ी मात्रा में महुआ उपार्जन कर रही हैं और साथ ही गौठान परिसर में महुआ को सुखाया जा रहा है। जनपद पंचायत जशपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रेमसिंह मरकाम ने बताया कि महिलाओं को गौठानों से जोड़कर आत्मनिर्भर बनाने के लिए सार्थक प्रयास किया जा रहा है।

गौठान में स्व सहायता समूह को जोड़कर बटन मशरूम उत्पादन, चप्पल निर्माण, कड़कनाथ मुर्गी पालन, पोल निर्माण, चैन फिनिसिंग निर्माण, दोना-पत्तल का निर्माण, महुवा से सेनेटाईजर बनाना, महुआ से केक, गटागट, लडडू, गोबर से जैविक खाद आदि अनेक प्रकार की सामग्री बनाने के गतिविधियों में जुड़ी हुई हैं।